Shri Jagruteshwar

Sadhe Saat Swayambhu Shivalingas

 

 

 

Swayambhu Shri Jagruteshwar 7 ½ Shivling temple is oldest temple  dating back to 450 years and it is the Nagpur Grama Devata temple.  Nowhere in the North India, we can see the 1/2 shivlinga except at Jagruteshwar temple.  The temple is situated in at Jagnath Budhwari, Bharatmata Chowk near Golibar Square of Nagpur.

The temple is under Government Heritage category.   

Shri Jagruteshwar temple is filled with spiritual blessings of  7 ½ Shivlings in the premises along with many other dieties presence.  The 7½ Swayambhu Lingas are as follows :

  • Shri Jagruteshwar
  • Shri Pataleshwar
  • Shri Kashi Vishweshwara
  • Shri Agneshwar
  • Shri Amruteshwar
  • Shri Chandikeshwar
  • 2½ Lingeshwar (in which one Shiva linga is not Swayambhu)

Shri Jagruteshwar temple is having exquisite architecture and beautiful designs on the gopurams and on the walls. Legend says that the temple is renovated at the times of Gond Rajas.

 

स्वयंभू श्री जागृतेश्वर साढ़े सात  शिवलिंग मंदिर यह ४५० पूर्व पुराना और नागपुर ग्राम देवता का मंदिर है |   कही उत्तर भारत में हम लोग आधा लिंग देखा सकते है सिवाय जागृतेश्वर मंदिर. यह मंदिर जगनाथ  बुधवारी, भारतमाता चौक गोल्लीवार नगर, नागपुर में में स्थापित है |

यह मंदिर सरकारी विरासत वर्ग में है |

श्री जागृतेश्वर मंदिर का परिसर साढ़े सात शिवलिंग के आध्यात्मिक आशीर्वादके साथ साथ कई देवताओ से भरा है |   साढ़े सात स्वयंभू लिंग इस प्रकार है :

  • श्री  जागृतेश्वर
  • श्री  पातालेश्वर
  • श्री  काशी विश्वेश्वर
  • श्री  अगणेश्वर
  • श्री  अमृतेश्वर
  • श्री  चण्डिकेश्वर
  • ढाई लिंगेश्वर (जिसमे एक शिव लिंग स्वयंभू नहीं है )

श्री जागृतेश्वर मंदिर अति सुन्दर वास्तुकला के साथ बना है साथ ही गोरपुरम और दिवारो पे सुन्दर  कलाकृति की है. महापुरुषों का कहना है की मंदिर के मरम्मत का काम गोंड राजा के समय में हुआ था |

 

    ​